कान से पानी निकलने के क्या हैं कारण, जानिए ठीक करने के उपाय

कान से अगर पानी निकलता है तो कई बार ये कान में दर्द होने की वजह बन सकता है. ऐसे में कान से सफेद या पीले रंग का तरल पदार्थ निकलता है. यह तरल पदार्थ पानी, खून, मवाद या पस हो सकता है. कान से निकलने वाला तरल पदार्थ अलग-अलग बीमारियों का संकेत हो सकता है. इसलिए इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें. कान से पानी निकलने पर शुरुआत में आप कुछ घरेलू उपायों को आजमा सकते हैं.

कान से पानी निकलने के कारण

1- कई बार ईयर कैनाल में चोट लगना भी कान से पानी निकलने का कारण हो सकता है ईयर कैनाल में चोट लगने पर खून निकलने लगता है. इस समस्या में आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए, अन्यथा परेशानी बढ़ भी सकती है.

2- कान से मवाद या पस निकलना भी कान बहने का कारण हो सकता है जब ईयर कैनान या कान में इंफेक्शन होता है, तो इस स्थित में कान से मवाद निकल सकता है, ऐसे में आपको अधिक सतर्क होने की जरूरत होती है.

3- कान के अंदर पानी इकट्ठा होने पर कान से पानी निकल सकता है, नहाते समय या स्विमिंग के दौरान कान में पानी जा सकता है वही पानी बाद में बाहर निकलता है.

4- ईयरवैक्स की वजह से भी कान से तरल पदार्थ निकल सकता है दरअसल, ईयरवैक्स ईयर इंफेक्शन से बचाता है. ऐसे में जब नहाते समय कान में पानी चला जाता है, तो कान से पीला, सफेद या भूरे रंग का पदार्थ निकल सकता है.

कान से पानी निकलने पर इन उपायों का करें इस्तेमाल

1- तुलसी- तुलसी स्वास्थ्य के साथ ही कान की समस्याओं को दूर करने में भी उपयोगी होता है तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल गुण होते हैं. कान से पानी निकलने की समस्या को ठीक करने के लिए भी तुलसी का उपयोग किया जा सकता है. इसके लिए तुलसी के पत्तों का रस निकालें और इसे कान में डाल दें इससे कान का संक्रमण ठीक होगा कान बहने औऱ कान में दर्द की समस्या में भी आराम मिलेगा.

2- लहसुन- लहसुन में एलिसिन कंपाउंड होता है, यह संक्रमण से लड़ने में मदद करता है इसके लिए सबसे पहले सरसों के तेल में  लहसुन की 2 कलियां डाल दें और गर्म करें. अब इसे ठंडा होने दें इसके बाद आप इसके ड्रॉप को कान में डाल सकते हैं. कान में डालकर कुछ देर लेट जाए, इससे लहसुन और सरसों का तेल कान तक अंदर तक चला जाएगा.

3- सेब का सिरका- कान की समस्याओं को दूर करने के लिए सेब का सिरका भी एक बेहतरीन घरेलू उपाय हो सकता है. सेब के सिरके में एंटी माइक्रोबियल गुण होते हैं जो कान में होने वाले सभी तरह के संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं. इसके लिए एक चम्मच सेब का सिरका और एक चम्मच पानी लें अब इसमें कॉटन बॉल डालें और जिन कान से पानी निकल रहा है उस पर रख दें.

4- नीम ऑयल- नीम ऑयल में एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल गुण होते हैं ऐसे में यह कान के इंफेक्शन से बचाव करता है. कान में संक्रमण होने पर नीम के तेल का इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद माना जाता है. इसके लिए नीम ऑयल को प्रभावित कान में डालें और कुछ देर के लिए लेट जाएं कुछ दिनों तक कान में नीम का तेल डालने से समस्या में आराम मिलेगा.

ये भी पढ़ें: पैरों की सूजन को इस तरह से करें दूर, पाएं आराम

नीचे देखें स्वास्थ्य उपकरण-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलकुलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: