डायबिटीज के मरीज इस तरह खाएं आम, नहीं बढ़ेगा ब्लड शुगर लेवल

गर्मी में आम खाना सभी को खूब पसंद होता है. आम बहुत ही स्वादिष्ट और सेहतमंद फल भी है. रसीले और मीठे आम देखकर खुद को कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है. ऐसे में जिन लोगों का ब्लड शुगर बढ़ा होता है उन्हें समझ नहीं आता कि आम खाएं या नहीं. डायबिटीज के मरीज को हमेशा इस बात का डर रहता है कि कहीं आम खाने से डायबिटीज और न बढ़ जाए. आम में नेचुरल स्वीटनेस काफी ज्यादा होती है. ऐसे में मधुमेह के रोगियों को बड़ा ही सोच-समझकर आम खाने चाहिए.

एक कप आम में पोषक तत्व?
आम में कई विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं. 1 कप कटे हुए आम में 99 कैलोरी, 1.4 ग्राम प्रोटीन, 2.6 ग्राम फाइबर, 67% विटामिन C, 25 ग्राम कार्ब, 22.5 ग्राम शुगर, 18% फोलेट, 10% विटामिन E और 10% विटामिन A होता है. इसके अलावा कैल्शियम, जिंक, आयरन और मैग्नीशियम भी होता है.

आम खाने से डायबिटीज में क्या असर पड़ता है?
डायबिटीज के मरीज को आम बहुत सीमित मात्रा में खाने की सलाह दी जाती है. आम में मिठास होने की वजह से ब्लड शुगर बढ़ने का खतरा रहता है. हालांकि, आम में एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर भी होता है जो ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है. आम में पाया जाने वाला फाइबर ब्लड शुगर अवशोषित करने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है. हालांकि आम में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट ब्लड शुगर से बढ़ने वाले तनाव को कम करते हैं. आम से शरीर में कार्ब्स बनते हैं और ब्लड शुगर कंट्रोल करने में आसानी होती है.

आम का ग्लाइसेमिक इंडेक्स क्या है?
खाद्य पदार्थ का ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI) रैंक से पता चलता है  इसे 0-100 के स्केल पर मापा जाता है, जिसमें 55 तक की रैंक वाले खाद्य पदार्थ कम शुगर वाले माने जाते हैं. आम का ग्लाइसेमिक इंडेक्स रैंक 51 है यानी शुगर के मरीज भी इसे सीमित मात्रा में खा सकते हैं.

डायबिटीज में आम खाते वक्त बरतें सावधानी

  • एक साथ बहुत ज्यादा मात्रा में आम खाने से बचें.
  • आप पहले 1/2 कप आम खाकर चेक कर लें कि ब्लड शुगर बढ़ता है या नहीं.
  • आपको अपने ब्लड शुगर के हिसाब से आम खाने की मात्रा निर्धारित करनी है.
  • डायबिटीज के मरीजों को आम प्रोटीन के साथ खाना चाहिए. इससे डाइट बैलेंस रहती है.
  • आप आम के साथ प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थ उबले अंडे, चीज़ या नट्स खा सकते हैं.

अस्वीकरण: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

ये भी पढ़ें: गर्मी में इन फलों को खाकर घटाएं वजन, डाइटिंग की नहीं पड़ेगी जरूरत

नीचे देखें स्वास्थ्य उपकरण-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलकुलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: