बार-बार उंगलियां चटकाने से हो सकती है दिक्कत

हम से बहुत से लोग ऐसे हैं जिन्हें उंगलियां चटकाने की आदत होती है. वो दिन भर में कई बार उंगली फोड़ते नजर आते हैं. कुछ लोगों की उंगलियां अपने आप ही चटकती है. क्या कभी आपने सोचने की कोशिश की है कि ये आवाज क्यों आती है और क्या ये सही है? कई लोगों का मानना है कि उंगलियां चटकाने से अर्थराइटिस की समस्या भी बढ़ जाती है. ऐसे में हम यहां आपको बताएंगे कि उंगलियां चटकाने के क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं. चलिए जानते हैं.

जब हम उंगली चटकाते हैं तो क्या होता है- जो प्रोसेस उंगलियां चटकाने में होता है. वही शरीर के सभी ज्वाइंट्स को चटकाने में होता है. शरीर के ज्वाइंट्स में एक फ्लूइड होता है तो जब आप उंगलियां चटकाते हैं तो ज्वाइंट्स के बीच मौजूद इस फ्लूइड की गैस रिलीज होती है और उसके अंदर बनने वाले बबल्स भी फूटते हैं. यही कारण है कि उंगलियां चटकाने पर आवाज आती है. कई बार आपका ज्वाइंट अपने आप ही आवाज करता है. ऐसा तब होता है जब आपने बहुत तेजी से कोई मूवमेंट किया हो.

इस वजह से ज्यादा नहीं चटकानी चाहिए उंगली- विशेषज्ञ का कहना है कि लंबे समय तक उंगलियां चटकाने से हाथ की ग्रिप स्ट्रेंथ पर असर पड़ता है और हाथों में सूजन भी आने की संभावना रहती है. इसलिए बहुत अधिक उंगली नही चटकानी चाहिए.

क्या उंगली चटकाने से अर्थराइटिस होता है- विशेषज्ञ कहते हैं अगर आपने उंगलियां चटकाई हैं और आपको दर्द महसूस नहीं हो रहा है तो ये सही है. वहीं कुछ लोगों का कहना था कि अधिक बार उंगली फोड़ने पर अर्थराइटिस का खतरा बना रहता हैं लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है. एक रिसर्च से पता चला है कि उंगलियों को फोड़ने से अर्थराइटिस का खतरा बिल्कुल भी नहीं होता है.

बार-बार उंगली चटकाने पर आवाज आती है तो- अगर बार-बार ज्वाइंट से अपने आप ही आवाज आती है तो इसका कारण ये हो सकता है कि उनमें कुछ समस्या आ रही हो या फिर वो लूज हो रहे हों. ऐसे समय में आपको हड्डियों के डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए. ये समस्या अधिकतर दर्द के साथ होती है और ये भी एक लक्षण है जो बताता है कि आपको हड्डियों का रोग हो रहा है तो आप इस बात को नजरअंदाज बिल्कुल भी न करें और तुरंत डॉक्टर से मिले.

ये भी पढ़ें-देर रात खाना खाते वक़्त इन बातों का रखें ध्यान, नहीं तो हो सकती है दिक्कत

आंख फड़कने के पीछे होती है यह वजह, जानें

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: