भूलकर भी इस जगह ना रखें ड्रेसिंग टेबल, पति-पत्नी के बीच बढ़ता है तनाव

घर के लिए वास्तु टिप्स: वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में रखी हर चीज व्यक्ति के जीवन पर अपना प्रभाव डालती है. वास्तु में हर चीज रखने की एक निश्चित दिशा और नियम बताए गए हैं. वास्तु शास्त्र में फर्नीचर रखने के भी खास नियम हैं. इसमें घर की ड्रेसिंग टेबल की दिशा का भी विशेष स्थान बताया गया है.

घर की ड्रेसिंग टेबल आपकी किस्मत बदल सकती है और गलत दिशा में रखने से इसकी वजह से आपके घर का वास्तु बिगड़ भी सकता है. आइए जानते हैं कि ड्रेसिंग टेबल रखने की सही दिशा क्या है और किस दिशा में इसे बिल्कुल भी नहीं रखना चाहिए.

ड्रेसिंग टेबल से जुड़े वास्तु टिप्स

यदि आपके बेड के किसी भी हिस्से में शीशा लगा हुआ है तो उसे तत्काल  हटवा दें, ऐसा शीशा आयु को कम करने वाला बताया गया है. कोशिश करें कि बेड के सामने आईना न हों, अगर बेड के सामने आईना होगा तो पति-पत्नी पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा. इससे पति-पत्नी के बीच हमेशा तनाव रहता है. बेडरूम में ड्रेसिंग टेबल कभी भी खिड़की या दरवाजे के सामने न रखें, क्योंकि बाहर से आन वाला प्रकाश परावर्तित होकर अपनी नेगेटिविटी कमरे में फैलाता है.

समाचार रीलों

बेडरूम में दरवाजे के अंदर की ओर शीशा नहीं लगाना चाहिए, ऐसा सिर्फ एक ही स्थिति में कर सकते हैं यदि दरवाजा ईशान दिशा की ओर हो. पलंग पर सोते हुए व्यक्ति का प्रतिबिंबित शीशे में नहीं आना चाहिए. अगर किसी कारण से आईने में सोते समय प्रतिबिंब पड़ रहा है तो आईने पर हल्का पर्दा लगा दें.

कहां और कैसा लगाएं  ड्रेसिंग टेबल

वास्तु के अनुसार शीशे से एक प्रकार की ऊर्जा हमेशा निकलती है. यह ऊर्जा कितनी अच्छी है या खराब, यह इस बात पर निर्भर करती है कि वो किस स्थान पर लगा हुआ है. ड्रेसिंग टेबल कमरे में हमेशा उत्तर या पूर्व दिशा की ओर लगाना ही शुभ होता है. कोशिश करना चाहिए कि इसका शीशा अधिक बड़ा न हो. गोल आकृति को छोड़कर किसी भी आकृति का शीशा बेडरूम में लगाया जा सकता है. किसी भी प्रकार का नुकीला और टूटा आईना हो तो उसे बेडरूम से तुरंत हटा दें.

ये भी पढ़ें

सफलता प्राप्त करने के लिए जरूरी है ये एक चीज, जानें भगवत गीता के अनमोल मंत्र

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: