रूस ने यूक्रेन में सैन्य कार्रवाई को नरम करने का वादा किया है

यूक्रेन के शहरों में लड़ाई तेज हो गई है

कीव: रूस ने घोषणा की है कि वह यूक्रेन की राजधानी कीव के आसपास सैन्य अभियानों को नियंत्रित करेगा। हालांकि, अमेरिका और अन्य सहयोगियों ने कहा है कि रूस के दावों पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। अपने बिखरे हुए सैनिकों को एक साथ लाने का समय आ गया है। तो यह नाटक चल रहा है।’ तुर्की की राजधानी इस्तांबुल में रूसी और यूक्रेन के प्रतिनिधिमंडलों के बीच कई दौर की बातचीत हुई। लेकिन अब तक कोई नतीजा नहीं निकला है। यूक्रेन में लगभग 40 लोगों ने युद्ध के कारण दूसरे देशों में शरण ली है। दुनिया भर के कई देशों द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के कारण रूसी अर्थव्यवस्था चरमरा गई है।

यूक्रेन की सेना के कड़े प्रतिरोध के कारण रूस आगे नहीं बढ़ पा रहा है। यूक्रेनी बलों ने उन क्षेत्रों पर नियंत्रण वापस ले लिया है जहां रूसी सेना पहले ही जीत चुकी है। रूसी सैनिकों से घिरे शहरों में लोगों की मुश्किलें जारी हैं। शांति वार्ता के दौरान दोनों देशों के बीच आपसी विश्वास का माहौल बनाना जरूरी है। रूसी उप रक्षा मंत्री अलेक्जेंडर फोमिन ने कहा, “हमने एक समझौते को सुविधाजनक बनाने के लिए कीव और चेर्निहाइव के आसपास सैन्य उपस्थिति को कम करने का फैसला किया है।”

उन्होंने मारियुपोल और अन्य शहरों में हो रही भीषण लड़ाई पर कोई टिप्पणी नहीं की। लेकिन केवल यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेन स्की ने हमेशा की तरह रूस के लिए एक मज़ाकिया भाषण दिया है। ‘यूक्रेनी कायर नहीं हैं। हमलावरों से 34 दिनों तक लगातार लड़ाई। पिछले 8 साल से डॉन बास के अलगाववादियों के साथ लड़ाई चली है। वे एक कठिन परिणाम के अलावा किसी और चीज पर विश्वास करने की स्थिति में नहीं हैं।

यूक्रेन के सैन्य प्रमुखों को इस कदम पर संदेह है। रूस अपने सैनिकों को हटाना चाहता है। इस तरह हमें गुमराह करने की कोशिश की जा रही है। वहीं रूस ने यूक्रेन पर कई आरोप लगाए हैं। यूक्रेन की सेना नागरिक प्रत्यर्पण के लिए हमारे द्वारा दी जाने वाली युद्धविराम रियायत का उपयोग कर रही है। रूस ने शिकायत की है कि स्कूलों और अस्पतालों का इस्तेमाल विस्फोटक सामग्री और गोला-बारूद के लिए किया जा रहा है। जल्द ही यूक्रेन पर बड़े पैमाने पर हमले का एक और दौर होगा। रूस से लेकर कीव तक की चिंता अभी भी पूरी तरह से हल नहीं हुई है। ब्रिटेन के खुफिया विभाग ने बताया है कि रूस पूर्व में डोनेट्स्क और लुहान्स्क क्षेत्रों में अपनी सेना को स्थानांतरित करने का इरादा रखता है।

यह भी पढ़ें: रूस यूक्रेन संघर्ष: रूस कभी आत्मसमर्पण नहीं करेगा

यह भी पढ़ें: रूस यूक्रेन युद्ध: पुतिन के बैडोन को हराया: रूस के यूक्रेन युद्ध के तीन विचार हैं

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: